नशीलें प्रदार्थो से महिलाओं और बच्चों पर बुरा प्रभाव पड़ता है

माद्क पदार्थो व द्रव्यों के सेवन से होने वाले दुष्प्रभावों के प्रति जागरूक करने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा आरम्भ किये गये जागरूकता अभियान के तहत आज किन्नौर जिला के आंगनवाडी केन्द्र बु्रआ, युला, अपर शुद्धारंग तथा निचार ब्लाॅक के कटगांव व पौडा में लोगो को जागरूक करने के लिए जागरूकता शिविरो व परिचर्चाओं का आयोजन किया गया । इस दौरान जागरूकता रैली भी निकाली गई । 


खवांगी में बाल विकास अधिकारी हरीश कुमार शर्मा ने इस अवसर पर उपस्थित आंगनवाडी कार्यकर्ताओ, स्वयं सहायता समूह के सदस्यों और पंचायती राज संस्थाओ के प्रतिनिधियो व स्थानीय लोगो को नशीले पदार्थो के सेवन से होने वाले नुक्सानों की जानकारी देते हुए कहा कि नशीले वस्तुओं की सेवन से न केवल हमारे शरीर पर बुरा प्रभाव पडता है बल्कि इससे आर्थिक हानि भी उठानी पडती है और घर का वातावरण भी दूषित हो जाता है ।

उन्होने कहा कि जिस घर में नशीलें वस्तुओ का प्रयोग किया जाता है वहां पर महिलाओ व बच्चों को इसका सबसे अधिक बुरा प्रभाव देखने को मिलता है । 


उन्होने कहा कि महिलाएं व बच्चे इस दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते है । उन्होने कहाकि महिलाओ को नशे के विरूद्व अपने घर व आस पडोस से कार्य आरम्भ करना चाहिए ताकि धीरे धीरे पूरा समाज नशा मुक्त हो सके ।

उन्होने कहा कि हम सभी को यह शपथ लेनी चाहिए न तो स्वयं नशा करेगे और न ही अन्य को नशा करने देगे । 
पर्यवेक्षक सुभद्रा देवी, सरिता नेगी, अनुराज ने भी नशे के दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी दी

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *