किन्नौर,लाहौल-स्पीति कि ऊंची चोटियों पर हिमपात और निचले इलाकों में बारिश शुरू,ज़िले में ठंड का प्रकोप बढ़ा

हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति की ऊंचाई वाली चोटियों सहित रोहतांग दर्रा में बीती रात से बर्फ के फाहे गिर रहे हैं, जिससे रोहतांग दर्रा बर्फ से सफेद हो गया है। हालांकि वाहनों की आवाजाही सुचारू है लेकिन क्रम ऐसा ही रहा तो वाहनों के पहिए थम सकते हैं। शनिवार सुबह मनाली की ओर से दर्जनों वाहन लाहौल की ओर रवाना हुए जबकि सैलानियों ने भी रोहतांग का रुख किया। इस बर्फबारी को देखने का पर्यटक भी रोहतांग का रुख कर रहे हैं।

रोहतांग दर्रे सहित राहनीनाला, मढ़ी सहित धुंधी जोत, पतालसू जोत, इंद्र किला, लदाखी पीक, सैवन सिस्टर पीक, हनुमान टिब्बा, मकरवेद व शिकरवेद की पहाडिय़ों, भृगु व दशौहर की पहाडिय़ों सहित सभी धौलाधार की पहाडिय़ों में बर्फ के फाहे गिरने का क्रम शुरू हो गया है। बारालाचा दर्रे सहित शिंकुला व कुंजम जोत में भी बर्फ के फाहे गिर रहे हैं। दर्रों में हालांकि कल से हल्की बर्फबारी का दौर जारी है लेकिन मनाली-लेह सहित मनाली-जांस्कर और मनाली-काजा मार्ग में वाहनों की आवाजाही फिलहाल जारी है। बर्फबारी का क्रम ऐसे ही जारी रहा तो सभी दर्रे वाहन चालकों की दिक्कत बढ़ा सकते हैं।

डीसी लाहौल केके सरोच ने कहा कि 15 अक्तूबर से केलांग-सरचू मार्ग के बीच स्थापित चैक पोस्ट हटा ली गई है। उन्होंने वाहन चालकों से आग्रह किया कि वे मौसम की परिस्थिति से अवगत होने के बाद ही मनाली-लेह मार्ग पर बारालाचा व शिंकुला दर्रे को पार करें। बीआरओ कमांडर कर्नल उमा शंकर ने बताया कि पहाड़ों में बर्फबारी का क्रम शुरू हो गया है। उन्होंने बताया कि हल्की बर्फबारी के बीच वाहनों की आवाजाही सुचारू रखी जाएगी। बीआरओ रोहतांग एवं मनाली-लेह मार्ग दारचा व आसपास के क्षेत्र में मुरम्मत कार्य को अंजाम दे रहा है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *