जुमले से ज्यादा कुछ नहीं इन्वेस्टर मीट, मोदी से राहत की आस : राणा

एक साल इसी इवेन्ट की तैयारी में कर दिया बर्बाद

सुजानपुर के विधायक श्री राजेंद्र राणा जी ने कहा है कि वर्तमान प्रदेश सरकार ने एक साल इन्वेस्टर मीट की तैयारी में ही बर्बाद कर दिया, जबकि सबको पता है कि आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रहे देश में इस इवेन्ट का कोई मतलब नहीं है तथा यह केवल भाजपा का केवल जुमला ही साबित होगा।

जारी प्रेस विज्ञप्ति में उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को सत्ता में आए हुए 2 साल होने वाले है, लेकिन अब तक सरकार ऐसा कोई काम नहीं कर पाई है जिससे जनता व प्रदेश का भला हुआ हो। इतना जरूर है कि जनता को अपनी बातों में घुमाने वाली फिरकी वाली सरकार का तमगा जरूर माथे पर लगा लिया है। उन्होंने कहा कि जनता भी इन्वेस्टर मीट का बड़ी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं क्योंकि उसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह भी आने वाले है और उनसे प्रदेश के लिए कोई बड़ा तोहफा या राहत मिलने की आस लगाए बैठे हैं।

उन्होंने कहा कि वैसे भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हिमाचल को अपना दूसरा घर मानते हैं तो उनसे उनके परिवार को भी आशा है कि उनका मुखिया उन्हें निराश नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि जितने बड़े निवेश की बात सरकार कर रही है, अगर वैसा होता है तो प्रदेश सरकार को करोड़ों रुपए का कर्ज लेने की भी जरूरत भी नहीं पड़ेगी और जनता को विभिन्न करों में छूट देकर सरकार को राहत प्रदान करनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि यह भी हैरानी की बात है कि हिमाचल में पर्यटन की अपार संभावनाएं व उसी में रोजगार का विकल्प होने के बावजूद सरकार बाहरी निवेश को महत्व दे रही है जबकि पहले ही स्थापित उद्योग तंगहाली में हैं। उन्होंने कहा कि पहले सुविधाएं जुटाने की बजाये सरकार और अधिक बोझ डाल रही है, वो भी केवल अपने चहेते 4-5 उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने की ही ये इन्वेस्टर मीट है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *