धूमल के ड्रीम प्रोजैक्ट से एक हजार युवाओं कों मिलेगा रोजगार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे शिलान्यास

पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने आज से करीब 13 साल पहले सपना देखा था कि हमीरपुर जिला में भी बिजली बने और हिमाचल में तैयार होने वाली बिजली हिमाचल को मुफ्त मिले व स्थानीय युवाओं को रोजगार भी मिले। वह सपना अब पूरा होने जा रहा है तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 27 दिसम्बर को हमीरपुर जिला के सुजानपुर विधानसभा क्षेत्र में ब्यास नदी पर बनने वाले 66 मैगावाट धोलासिद्ध बिजली प्रोजैक्ट का शिलान्यास करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 27 दिसम्बर को मंडी में प्रदेश सरकार के 4 साल के पूरा होने पर आयोजित जश्न समारोह में शिरकत कर रहे है तथा वहां से ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी धोलासिद्ध बिजली प्रोजेक्ट का ऑनलाइन शिलान्यास करेंगे। वही सुजानपुर के चौगान पर बड़ी स्क्रीन पर इसका पूरा लाइव प्रसारित होगा।

सुजानपुर में ब्यास नदी पर धोलासिद्ध प्रोजैक्ट का सपना पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने देखा था। जब धूमल मुख्यमंत्री थे तो उन्होंने नवम्बर, 2008 को धोलासिद्ध प्रोजैक्ट की डीपीआर बनवा कर केंद्र को स्वीकृति के लिए भेज दी थी लेकिन राजनीति के चलते सत्ता परिवर्तन के बाद केंद्र व प्रदेश में कांग्रेस की सरकारें होने के चलते इस प्रोजैक्ट का काम लटक गया लेकिन जैसे ही केंद्र व प्रदेश में भाजपा की एक साथ सरकारें बनीं और केंद्र में पहली बार धूमल के बेटे हमीरपुर के सांसद अनुराग ठाकुर वित्त राज्य मंत्री बने तो उन्होंने धोलासिद्ध प्रोजैक्ट को शुरू करवाने में अहम भूमिका अदा की, जिसके चलते 6 मई, 2021 को धोलासिद्ध प्रोजैक्ट के टैंडर अवार्ड हुए तथा इसके निर्माण के लिए 690 करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान भी मोदी सरकार ने तुरंत कर दिया, जिसके बाद प्रोजैक्ट का काम तेजी से शुरू हो गया तथा विस्थापितों को मुआवजा राशि मिलने के साथ ही जहां पर प्रोजैक्ट बनना है वहां तक सड़क निर्माण के साथ ही ब्यास नदी को डायवर्ट करने का काम भी तेजी से शुरू हो गया है। बताया जा रहा है कि पिछले 6 महीने में ही बड़ी तेजी के साथ प्रोजैक्ट का काम शुरू हुआ है तथा 10 प्रतिशत तक का काम हो चुका है। यह प्रोजैक्ट मई, 2025 तक बनकर तैयार हो जाएगा। वहीं अब 27 दिसम्बर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद इस प्रोजैक्ट का शिलान्यास करके धूमल के सपने को पूरा करने के साथ ही हमीरपुर जिला के साथ हिमाचल को भी बहुत बड़ी सौगात देने वाले हैं।

बता दें कि ब्यास नदी पर धोलासिद्ध मंदिर के साथ ही मुख्य डैम बनेगा, जिसकी ऊंचाई 69.75 मीटर की होगी। वहीं स्नोटु गंब के साथ पावर हाउस बनेगा तथा ब्यास नदी को डायवर्ट करने के लिए टनल का निर्माण कार्य युद्ध स्तर पर चला हुआ है तथा ये टनल जनवरी, 2022 तक बन कर तैयार हो जाएगी व इसकी लंबाई 253 मीटर की होगी। धोलासिद्ध प्रोजैक्ट के बनने से जहां हिमाचल को मुफ्त बिजली मिलेगी, वहीं हमीरपुर जिला के एक हजार लोगों को रोजगार भी मिलेगा तथा पर्यावरण की दृष्टि से भी लाभ होगा।

धोलासिद्ध प्रोजैक्ट के हैड राजेश चंदेल ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी धोलासिद्ध प्रोजैक्ट का 27 दिसम्बर को मंडी से ऑनलाइन शिलान्यास करेंगे। उन्होंने बताया कि प्रोजैक्ट शुरू हो गया है तथा इसका 10 प्रतिशत निर्माण भी पिछले 6 महीने में करवाया जा चुका है। उन्होंने बताया कि 27 दिसम्बर को सुजानपुर के चौगान में बड़ी स्क्रीन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शिलान्यास कार्यक्रम को दिखाया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल को मुख्य रूप से इस कार्यक्रम में पधारने के लिए न्यौता दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.