नौहराधार -राजगढ़ मार्ग पर उफनते कंडा नाला में एक बार फिर फंसा ट्रक

श व भूस्खलन से लोक निर्माण विभाग मंडल संगड़ाह की आधा दर्जन सड़कें फिर बंद हो गई है। नौहराधार-राजगढ़ मार्ग पर उफनते कंडा नाले को पार करने की कोशिश में एक बार फिर यहा एक ट्रक जा फंसा। इससे पहले गत 20 जुलाई को भी यहां पर एक ट्रक इसी तरह फंस गया था। ट्रक के चालक को मौजूद लोगों ने बड़े मशक्कत से बचाया।

बारिश के बाद एक बार फिर कंडा नाला ने रौद्र रूप ले लिया है, जिसके चलते यहां पर दर्जनों गाड़ियां सड़क के दोनो फंसी रही। रात भर हो हुई बारिश से कईं चालकों तथा यात्रियों को सड़क खुलने के इंतजार मे गाड़ियों में ही रात गुजारनी पड़ी। वहीं इसी बीच एक चालक द्वारा अपने ट्रक को जोखिम उठाकर निकालने की कोशिश की, गई मगर बीच पानी के बहाव के बीच जा अटका। काफी मशक्कत के बाद जेसीबी मशीन से इसे बाहर निकाला गया।‌

बारिश के बाद हुए भूस्खलन से खेगुआ के समीप संगड़ाह-रेणुका जी-नाहन मार्ग मंगलवार सांय से दोपहर एक बजे तक 20 घंटे बंद रहा। इस दौरान उक्त स्थान पर दोनो तरफ सैंकड़ों वाहन व यात्री जाम मे फंसे रहे। कुछ वाहन चालकों व पर्यटकों को तो सड़़क पर ही रात गुजारनी पड़ी। सड़कें बंद होने पर सबसे ज्यादा परेशानी पर्यटकों व छोटे बच्चों के साथ यात्रा करने वाले लोगों को होती है।

गौरतलब है कि क्षेत्र में पिछले दो सप्ताह से इलाके मे बारिश का कहर जारी है, जिससे किसानों को भी भारी नुकसान हुआ है। लोक निर्माण विभाग व जल शक्ति विभाग को करोड़ों का नुकसान भूस्खलन से हुआ है। कंडा नाला उफान पर होने के चलते करीब 12 घंटे तक यहा मार्ग अवरुद्ध रहा। उक्त नाले पर करीब दो वर्षों से पुल का निर्माण कार्य चला हुआ है, मगर विभाग व ठेकेदार की लेटलतीफी के चलते पुल का कार्य लटका हुआ है। प्रशासन ने राहगीरों व चालको से अपील की है कि, यहां पर कोई भी तेज बारिश के दौरान अपने वाहनों को न ले जाए।

लोक निर्माण विभाग मंडल संगड़ाह के अंतर्गत आने वाली नौहराधार-पुन्नरधार, देवना-थनगा, संगड़ाह- लानाचेता-राजगढ़ आदि सड़के भी भूस्खलन से बंद हो चुकी है। बुधवार को क्षेत्र की अधिकतर बसें अपने निर्धारित समय पर तय रूट पर नही पहुंच पाई। लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता संगड़ाह रतन शर्मा ने कहा कि, संगड़ाह- नाहन रोड सहित सभी लगभग मुख्य सड़कों पर यातायात बहाल किया जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *