कोरोना के कारण इस वर्ष भी सेरीघाट में वार्षिक मेला नहीं होगा

Preneeta Sharma 

कोरोना महामारी के कारण इस वर्ष भी नई फसल वार्षिक पर्व जो की धार देवता के मूल स्थान सेरीघाट में होता है वह नहीं हो पाएगा।

मंदिर के मुख्य पुजारी मनोहर लाल गर्ग ने कहा कि इस वर्ष 16 मई को 2021 को नई फसल की पूजा का वार्षिक पर्व होना है लेकिन अब नहीं हो पाएगा क्यूंकि प्रदेश सरकार ने बढ़ते कोरोना के मामले को देखते हुए मेलो पर रोक लगाई है। इसलिए अब मंदिर में 16 मई को सिर्फ पूजा अर्चना ही की जाएगी।

बता दे हर बर्ष मई माह के ज्येष्ठ रविवार को नई फसल की पूजा के वार्षिक पर्व पर दूर दूर से ग्रामीण जिला सोलन के सेरीघाट में अपने देवता देव धार वाले देओ के मूल स्थान में नई फसल का चढ़ावा अर्पित करते है। हजारों की संख्या में लोग कुल देवता के दर्शन करते है लेकिन इस वर्ष सरकार की गाइडलाइन के तहत परंपरा का निर्वहन सूक्ष्म रूप से किया जाएगा।

मंदिर के पुजारी मोनोहर लाल गर्ग ने भी लोगो से अपील की है कि सब लोग सरकार के आदेशो का पालन करें और सुरक्षित रहे। उन्होने बताया कि परम्परा के अनुसार रविवार सुबह 9:00 बजे मंदिर कमेटी के द्वारा ही पूजा की जाएगी तथा देवता जी के पूरे प्रजामण्डल के कुशल क्षेम के लिये प्रार्थना की जाएगी।

मनोहर लाल गर्ग ने लोगो से निवेदन किया है कि आप जहां भी हो वहीं से सुबह 9:00 बजे देवता जी से अपने परिवार समाज व पूरे देश के लिए मंगल कामना करें।जब स्थिति सामान्य हो जाए तब ही अपनी फसल का चढ़ावा लेकर मंदिर आयें। अभी घर पर रहें सुरक्षित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.