हिमाचल प्रदेश में मुकेश अग्निहोत्री कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष और सुक्खू विधानसभा में विपक्ष नेता,कांग्रेस हाई कमान ने भरी हामी

शिमला : हिमाचल प्रदेश के कांग्रेस में जहाँ कौन होगा प्रदेशाध्यक्ष और नेता विपक्ष की बात चल रही वही कांग्रेस हाईकमान ने इसका फैसला भी ले लिया है।

सूत्रों के अनुसार मुकेश अग्निहोत्री की जल्द ताजपोशी होगी कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष के पद पर वहीं कांग्रेस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू को विधानसभा में विपक्ष के नेता की जिमेवारी मिलेगी।

मिली जानकारी के अनुसार, हाईकमान ने साफ करदिया है कि अगला विधानसभा चुनाव मुकेश अग्निहोत्री के नेतृत्व में होगा  और प्रदेशाध्यक्ष पद पर ताजपोशी होने से अग्निहोत्री मुख्यमंत्री के चेहरे के रुप में प्रदेश की जनता के सामने आएंगे।

इसको लेकर कांग्रेस हाईकमान जल्द ही दोनों के नाम कि घोषणा कर देगी। जिससे अब प्रदेश के दो युवा और तेज तर्रार नेता मुकेश अग्निहोत्री और सुखविंदर सिंह सुक्खू मिलकर भाजपा सरकार को घेरेंगे और प्रदेश में कांग्रेस की सत्ता में वापसी कराएंगे।

बता दे दिल्ली में प्रदेश प्रभारी राजीव शुक्ला के साथ मुकेश अग्निहोत्री और सुखविंदर सुखु कि लम्बी मीटिंग हुई है। राजीव शुक्ला की मीटिंग के बाद नेताओं ने राष्ट्रीय महासचिव संगठन वेनुगोपाल के साथ भी मीटिंग की। पहले मुकेश अग्निहोत्री वेनुगोपाल से मिले तो उसके बाद सुक्खू ने वेनुगोपाल के साथ मीटिंग की।

सूत्रों की माने तो दोनों नेता प्रदेशाध्यक्ष पद ही दावेदारी कर रहे थे। इन दो नेताओं के अलावा कई सीनियर नेता भी दिल्ली हाईकमान के समक्ष अपने बात पहुंचाते रहे हैं। सुक्खू के अलावा मंडी से सांसद प्रतिभा सिंह का नाम भी प्रदेशाध्यक्ष पद के लिए सामने आया। दलील यह दी गई कि जो नेता विधानसभा चुनाव नहीं लड़ रहा है, उसे जिम्मेदारी दी जाए।

कांग्रेस में भी गुट बाजी चल रही है। कई नेता मुकेश अग्निहोत्री के प्रदेश अध्यक्ष पद की ताजपोशी रोकने के लिए हाईकमान के पास पहुंचे है वहीं 22मार्च की मीटिंग में कुछ नेता ने  धनीराम शांडिल्य को प्रदेशाध्यक्ष बनाने की  बात हाईकमान के समक्ष रखी थी।

सूचना यह भी है कि मुकेश अग्निहोत्री को रोकने के लिए कई नेताओं ने प्रयास किए लेकिन वह कामयाब नहीं हो सके। इसका कारण यह है कि मुकेश अग्निहोत्री ने चार साल विपक्ष के नेता पद की भूमिका बेहतर ढंग से निभाया है।

पार्टी हाईकमान ने भी प्रदेशाध्यक्ष पद पर मुकेश अग्निहोत्री और सीएलपी के पद पर सुखविंदर सिंह सुक्खू के नामो पर मुहर लगा दी है। यह सूचना मीटिंग में शामिल सीनियर कांग्रेसी नेता से प्राप्त हुई है।

सम्भावना यह बताई जा रही है कि 6 अप्रैल को मंडी में आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल की रैली के बाद ही हाई कमान इन दो नामो की घोषणा कर देंगे।दोनों हि नेता अभी भी दिल्ली में ही हैं। उम्मीद है कि ऐलान होने के बाद ही दोनों नेता एकजुटता दिखाते हुए हिमाचल प्रदेश में दस्तक देंगे।

कांग्रेस में प्रदेशाध्यक्ष पद के दावेदारों की लंबी लाइन थी। जिसमें पूर्व मंत्री कौल सिंह ठाकुर, रामलाल ठाकुर, मंडी से सांसद प्रतिभा सिंह, पूर्व मंत्री आशा कुमारी के साथ मुकेश अग्निहोत्री और सुखविंदर सिंह सुक्खू प्रमुख दावेदार थे। वहीं वर्तमान प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठोर दावा करते रहे कि पंजाब में आए परिणाम के बाद पार्टी हाईकमान नेतृत्व में बदलाव नहीं करेगा।

लेकिन पार्टी के अंदर प्रदेशाध्यक्ष को बदलने की मांग होती रही है। आगामी विधानसभा चुनावों को देखते हुए प्रदेशाध्यक्ष को बदलने की मांग तेजी होती गई। जिससे हाईकमान के समक्ष प्रमुख दावेदारों में मुकेश अग्निहोत्री और सुखविंदर सिंह सुक्खू के नाम ही प्रमुख दावेदारों के रुप में बचे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.