पच्छाद में बिछने लगी सियासी बिसाते

राजगढ़  29 जुलाई

पच्छाद निर्वाचन क्षेत्र में सियासी बिसात बिछनी शुरू हो गई है । शुक्रवार को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष एवं सांसद सुरेश कश्यप ने जहां कार्यकर्ताओं का आगामी विधानसभा चुनाव के लिए मनोबल बढ़ाने तथा पच्छाद से चैथी बार कमल का फूल खिलने का दावा किया जा रहा है । वहीं पर शनिवार को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं सांसद प्रतिभा सिंह भी राजगढ़ के दौरे पर आ रही है । जिनके साथ प्रतिपक्ष नेता मुकेश अग्निहोत्री, कार्यकारी अध्यक्ष विनय कुमार सहित अनेक दिग्गज नेता पधार रहे हैं ।

बता दें कि पच्छाद से भाजपा टिकट वर्तमान विधायिका रीना कश्यप को मिलना तय है । जबकि पच्छाद कांग्रेस में अभी तक टिकट को लेकर संशय की स्थिति बनी हुई है । े लोगों का मानना है कि हाई कमान को पच्छाद से किसी नए उम्मीदवार को उतारना चाहिए । हालांकि पच्छाद के पूर्व विधायक जीआर मुसाफिर इस बार भी 11वी पारी खेलने को तैयार है । एक समय था जब शिमला सचिवालय में पच्छाद की तूती बोलती थी अर्थात पच्छाद से सात बार जीतकर जीआर मुसाफिर ने रिर्काड स्थापित किया गया था । लेकिन बीते तीन विधानसभा चुनाव मुसाफिर को काफी भारी पड़े जिसके चलते  पच्छाद में भाजपा काफी मजबूत होकर उभरी है । दूसरी ओर  पच्छाद में आम आदमी पार्टी भी तीसरा विकल्प बनकर उभरी है यह पार्टी भी कांग्रेस व भाजपा को नुकसान पहूंचाएगी । चूंकि कांग्रेस और भाजपा से निराश होकर काफी कार्यकर्ता आप में शामिल हुए है । दूसरी ओर  आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सुरजीत ठाकुर भी राजगढ़ से हैं निःसंदेह सुरजीत ठाकुर भी अपने प्रभाव से काफी वोट काटेंगे । बीते दिनों आम आदमी पार्टी द्वारा राजगढ़ में रोड़ शो किया गया था । हालांकि सत्तासीन भाजपा अपना मुकाबला कांग्रेस से मान रही है । इनका कहना है कि हिमाचल प्रदेश में आम आदमी पार्टी का कोई वर्चस्च नहीं है ।
प्रतिभा सिंह पच्छाद कांग्रेस को आगामी चुनाव में एकजुट होने का पाठ पढ़ाने आ रही है ताकि पच्छाद में दुबारा कांग्रेस की छवि बहाल हो सके । ऐसा प्रतीत होता है कि पच्छाद से कांग्रेस में टिकट को लेकर अंदरूनी जंग जारी है ।  बुद्धिजीवी वर्ग का मानना है कि यदि  सुरजीत ठाकुर  पच्छाद से चुनाव लड़ते हैं तो इस बार विधानसभा चुनाव  मंें तिकोना मुकाबला होगा और कांटे की टक्कर होगी । दूसरी ओर यदि केंद्र सरकार गिरिपार क्षेत्र को कबायली दर्जा प्रदान करती है तो इसका सीधा लाभ निश्चित रूप से भाजपा को मिलेगा। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष का यह अपना निर्वाचन क्षेत्र है । जिस प्रकार वर्ष 2019 में उप चुनाव के दौरान प्रदेश सरकार ने पच्छाद सीट को प्रतिष्ठा का प्रशन बना दिया था वहीं पर आगामी होने वाले विधानसभा चुनाव में पच्छाद सीट प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के लिए काफी महत्वपूर्ण रहेगी चूंकि सुरेश कश्यप पच्छाद विस से संबध रखते हैं । देखना होगा कि आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस व भाजपा में क्या समीकरण बनते है यह भविष्य के गर्भ में हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.